Friday, 27 July 2018

VERY BAD NEWS - सरकार ने किया साफ,रद्द नहीं होगी एनपीएस,



नई दिल्ली।सरकार ने साफ कर दिया है कि उसका नई पेंशन योजना को रद्द करने का कोई इरादा नहीं है।वहीं सरकार की दो टूक के बाद भी रेलवे के नेता लगातार इस मुद्दे पर कर्मचारियों को गुमराह किये हुए हैं।दावा किया जा रहा है कि एनपीएस को लेकर अगले माह हड़ताल करने की घोषणा की जा सकती है।लेकिन रेलवार्ता को मिली जानकारी के अनुसार दोनों फेडरेशन ही इस मुद्दे पर एक राय नहीं हैं। ऐसे में एक बार फिर कर्मचारियों को निराशा हाथ लगने की पूरी पूरी उम्मीद है। कर्मचारियों का कहना है कि जब सरकार ने साफ कर दिया है तब फिर दोनों फेडरेशन हड़ताल का एलान क्यों नही करते हैं।आखिर इन्हें किसका इंतजार है।

एनपीएस पर सरकार ने साफ कर दिया कि इसको रद्द करने पर सरकार किसी तरह का कोई विचार नहीं कर रही है। यानी एनपीएस का दंश कर्मचारियों को हमेशा के लिए झेलने को तैयार रहना होगा। सबसे बड़ी बिडम्बना तो यह है कि पिछली कॉंग्रेस शासित सरकार ने भी इस मुद्दे पर कुछ नहीं किया।ऐसे में भले 2019 में बीजेपी की सरकार चली भी जाये तब भी एनपीएस का रद्द होना नामुमकिन है।
सबसे बड़ी बात तो यह है कि कांग्रेस के 2004 से 2014 के शासन काल मे दोनों फेडरेशन कान में रुई लगाए बैठे रहे। जबकि यह सर्वविदित है कि यह सरकार उन वामपंथी दलों की बैशाखी पर टिकी रही जो अपने आपको मजदूरों का मसीहा बताने से नहीं थकते हैं। इन दस वर्षों तक दोनों फेडरेशन क्यों चुप बैठे रहे,अब कर्मचारी जानना चाहता है।
दरअसल एनपीएस में दोनों फेडरेशनों की सहमति थी।भले अब यह लोग इसे रद्द कराने का नाटक करते घूमें।दोनों फेडरेशन यदि उस वक़्त रेल का चक्का जाम कर देते जब 2004 में इसे लागू किया जा रहा था तब आज यह स्थिति नहीं होती।उस वक़्त तो दोनों हाथों से मलाई खाने वाले फेडरेशन अब इस मुद्दे पर आंदोलन करने का नाटक करते घूम रहे है।